लहसुनियां रत्न

केतु का रत्न “लहसुनियां रत्न”

लहसुनियां रत्न छाया ग्रह केतु का रत्न है, अगर सही जानकारी से लहसुनियां धारण किया जाये, तो व्यक्ति जीवन में उनत्ति करते हुए बुलंदियों तक पहुँच सकता है।

Astrology

  • Name : Cats,Eye(Lahsuniya)
  • Colour : Brown,Green,Yellow,White
  • Origin : Indian Mines
  • Gemstone Type : Lab Certified
  • Ideal For : Rings,Lockets
  • Effects : Energised By Pundits

Brand : Jyotish Paramarsh Kendr

Gurantee : Best Quality Gemstone with Assurance of Jyotish Paramarsh Kendr

Cats,Eye जिसे हिंदी में लहसुनियां रत्न के नाम से जाना जाता है।

लग्नानुसार रत्न निर्धारण

लहसुनियां रत्न

लहसुनियां छाया ग्रह केतु का रत्न है, लहसुनियां के प्रभाव बहुत जल्दी देखने को मिलते है, लहसुनियां कुंडली में केतु की दशा देखते हुए धारण करने की सलाह दी जाती है।

कुंडली में अगर केतु बलहीन है तब लहसुनियां धारण किया जाता है,
दूसरी स्तिथि में जब जन्म पत्रिका में केतु बुरे प्रभावों से ग्रसित है, केतु अन्य ग्रहों की युति, दृष्टि या प्रभावों से नकारात्मक ऊर्जाओं को उत्पन्न कर रहा हो, जातक बुरे कर्मों में लिप्त हो रहा हो, जातक दरिद्रता की ओर जा रहा हो, जातक शारीरिक रूप से बीमारियों से ग्रसित होता जा रहा हो, व्यापार ख़त्म होता जा रहा हो, आर्थिक स्तिथि दयनीय होती, व्यक्ति डिप्रेशन में जाता जा रहा हो, धन से दरिद्र होता जा रहा हो, विद्यार्थी शिक्षा में बहुत कमजोर होते जा रहे हो, बार बार किसी न किसी तरह की दुर्घटना घटित हो रही हो, अचानक बड़े नुकसान होते जा रहे हो,
तब ऐसी स्तिथि में केतु रत्न धारण करना आवशयक हो जाता है, ऐसी परिस्थितियों में लहसुनियां धारण करके इन परिस्थितियों से दूर हुआ जा सकता है।

केतु का रत्न लहसुनियां कालसर्प योग में भी बहुत प्रभावशाली रहता है, जिन व्यक्तियों की जन्म कुंडली में काल सर्प योग का निर्माण हो रहा हो, उन जातकों को अपनी कुंडली का विश्लेषण करवाकर लहसुनियां धारण करना चाहिए।

लहसुनियां धारण करने से केतु के शुभ प्रभाव प्राप्त होते है, ऐसे में जीवन में सफलता, आर्थिक उनत्ति, कारोबार में बरकत, धन, वैभव, अचानक धन लाभ, संपत्ति की प्राप्ति, सामजिक सम्मान, धर्म कर्म के कार्य और मांगलिक कार्य संपन्न होते है।

You will like to Read : आपका भाग्यशाली रत्न

लहसुनियां रत्न धारण करने के लाभ:

  • लहसुनियां धारण करने से नकारात्मक प्रभाव नष्ट होते है,
  • जीवन में सफलता की प्राप्ति होती है,
  • घर के सभी सदस्यों की उनत्ति होती है,
  • मनोबल बढ़ता है और मानसिक मजबूती प्राप्त होती है,
  • व्यक्ति सही निर्णय उचित समय पर लेता है,
  • अचानक धन लाभ के योग बढ़ते है, आर्थिक उनत्ति मिलती है,
  • समाज में सम्मान की वृद्धि होती है,
  • स्टॉक मार्किट में लाभ मिलता है,
  • राजनितिक सफलता के लिए बहुत लाभकारी रहता है,
  • विद्यार्थी की शिक्षा में लाभ देता है, बौद्धिक क्षमता बढ़ती है,
  • घर में मांगलिक कार्य संपन्न होते है,
  • व्यक्ति का झुकाव धर्म कर्म के कार्यो की तरफ बढ़ता है,
  • व्यक्ति झूठ-फरेब से दूर होता है, सत्यता की राह पर चलता है।

लहसुनियां रत्न धारण

  • लहसुनियां शनिवार की संध्या को धारण करना चाहिए
  • लहसुनियां चांदी की अंगूठी में जड़वाए
  • लहसुनियां ६ कैरट या उससे ऊपर का ही धारण करना चाहिए
  • लहसुनियां की क्वालिटी दाग रहित और टूटा हुआ नहीं होना चाहिए
  • लहसुनियां मध्यमा उंगली में धारण करना चाहिए
  • लहसुनियां धारण करने से पहले शुभ मुहूर्त देख लेना चाहिए
  • लहसुनियां विधि विधान से पूजा करके ही धारण करना चाहिए
  • लहसुनियां केतु मंत्रो का ११०० बार जप करके ही धारण करना चाहिए

लग्न और रत्न

विशेष:

अच्छा लहसुनियां पूर्ण विधि विधान और पूजा करके धारण किया हुआ लहसुनियां ही अपने शुभ प्रभाव देने में सक्षम रहता है।

लहसुनियां रत्न कभी भी अपने मन से या किसी के कहने से धारण नहीं करना चाहिए, धारण करने से पहले किसी योग्य ज्योतिष से परामर्श करना अति आवशयक होता है।

केतु मंत्र :

ॐ स्रां स्रीं स्रौं स: केतवे नमः

2 thoughts on “लहसुनियां रत्न”

Leave a Comment

सूर्य रत्न माणिक्य कौन धारण कर सकते है पन्ना रत्न किसे पहनना चाहिए