राहु का रत्न गोमेद रखें आपको नकारात्मक उर्जाओ से दूर

राहु का रत्न गोमेद रखें आपको नकारात्मक उर्जाओ से दूर,राहु का रत्न गोमेद धारण करने से राहु के समस्त दोषों से मुक्ति मिलती है

 
 
Name : Hessonite Gomed
Colour : Brown
Origin : Shri Lankan,India,African
Gemstone Type : Lab Certified
Ideal For : Rings,Lockets
 

Brand : Jyotish Paramarsh Kendr

Gurantee : Best Quality Gemstone with Assurance of Jyotish Paramarsh Kendr

 

अंग्रेजी के Hassonite को हिंदी में गोमेद कहा जाता है।

राहु जो को एक छाया ग्रह है, और यह एक राक्षस ग्रह है, यह किसी की भी जन्म कुंडली में अपने बहुत प्रभाव रखता है, गोमेद या गोमेदक इसी ग्रह का रत्न है। राहु का रत्न गोमेद बहुत प्रभावशाली रत्न है, इसे धारण करने से राहु के समस्त दोषों से मुक्ति मिलती है।

गोमेद राहु से उत्पन्न होने वाली नकारात्मक ऊर्जाओं को अपने अंदर समेट लेता है और राहु के बुरे प्रभावों को ख़त्म करता है।

जब किसी जातक की कुंडली में राहु अशुभ प्रभावों में रहता है तो वह उस व्यक्ति को बुरी आदतों की ओर आकर्षित करता है, व्यक्ति बुरे कर्मो और कार्यो में लिप्त होने लगता है,
जातक के स्वास्थय को नुकसान पहुंचाता है, व्यापारिक और आर्थिक हानियां पहुंचाता है, डिप्रेशन देता है, मानसिक पागलपन देता है, शिक्षा पूरी नहीं होने देता, जातक को दरिद्र बनाता है।

जब राहु ग्रह किसी जातक की जन्म कुंडली में ऐसे ही प्रकोप देता है, तब ऐसी स्तिथि में गोमेद रत्न धारण करने से राहु के ऐसे भीषण प्रकोपों से अपने आप को सुरक्षित किया जा सकता है।

अगर किसी जातक की जन्म कुंडली में राहु के अंदर समस्त ग्रहों के सिमटने से कालसर्प दोष का निर्माण होता है, तब ऐसी स्तिथि में गोमेद रत्न को धारण करके कालसर्प दोष के बुरे प्रभावों को कम किया जा सकता है।

Astrology

जन्म कुंडली में शुभ राहु


जब किसी जातक की जन्म कुंडली में राहु शुभ और मजबूत स्तिथि में होता है, तब राहु व्यक्ति को अकूत धन संपत्ति प्रदान करता है, उच्च पदों सफलता देता है, राजनीती में सफलता देता है, सामजिक प्रसिद्धि और वैभव प्रदान करता है।

लग्नानुसार रत्न निर्धारण

गोमेद धारण करने के लाभ:


बुरे कर्मो को दूर रखता है, जातक को सही निर्णय लेने की क्षमता प्रदान करता है।
कारोबार और नौकरी में सफलता देता है।
शिक्षा और उच्च शिक्षा ग्रहण करने में सहायक बनता है।
जातक की आर्थिक और धन की स्तिथिथियों को मजबूत करता है।
समाज में मान सम्मान की प्राप्ति करवाता है।
सरकारी महकमे में उच्च पदों पर पहुंचने में मदद करता है।
सरकारी ठेकों में सफलता प्रदान करता है।
राजनीती में तो शुभ राहु राजयोग लेकर आता है
जातक को शारीरिक रूप से मजबूत करता है, व्यक्ति को शारीरिक रूप से रफ टफ बनाता है।

You will like to Read : आपका भाग्यशाली रत्न

गोमेद धारण विधि


राहु रत्न गोमेद को हमेशा चांदी की अंगूठी में ही बनवाना चाहिए, गोमेद को शनिवार की शाम को शुभ मुहूर्त में धारण करना चाहिए,
गोमेद धारण करने के लिए सबसे श्रेष्ठ ऊँगली मध्यमा होती है,
गोमेद की अंगूठी धारण करने से पहले पूर्ण विधि विधान से पूजा और राहु के मंत्रो का कम से कम 108 बार जाप करना आवश्यक होता है।

विशेष : बगैर पूजा-पाठ और अभिमंत्रित किया हुआ कोई भी रत्न किस भी काम का नहीं होता है, और ना की रत्ती भर भी लाभ देने वाला होता है।

लग्न और रत्न

राहु मंत्र :

ॐ रां राहवे नम:

ऊँ भ्रां भ्रीं भ्रौं स: राहवे नम:

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

Leave a Comment

सूर्य रत्न माणिक्य कौन धारण कर सकते है पन्ना रत्न किसे पहनना चाहिए