Red Garnet stone in hindi

Red Garnet stone सूर्य का रत्न माना जाता है, यह रत्न सूर्य की तरह ऊर्जा देता है, सुख लाता है, आर्थिक प्रगति करता है, सामाजिक सम्मान प्रदान करता है, Red Garnet stone माणिक्य रत्न है।

Red Garnet stone

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जब हम सूर्य ग्रह के मुख्य रत्न की बात करते हैं तो वह लाल ‘Ruby(माणिक्य) होता है।

माणिक्य नवरत्नों में से एक है, माणिक्य सूर्य ग्रह का प्रतिनिधित्व करता है। माणिक एक लाल, चिकना, सख्त और बहुत ही सुंदर रत्न है।

माणिक्य बहुमूल्य रत्न है। माणिक्य रत्न की महंगी कीमत के कारण हर कोई इसे खरीद नहीं पाता है।

इसलिए वैदिक ज्योतिष में हर ग्रह के मुख्य रत्नों के अलावा उस ग्रह से जुड़े उपरत्न भी होते हैं, जो आम खरीददारों के बजट में आते हैं।

जो लोग इसकी उच्च कीमत के कारण माणिक नहीं खरीद सकते हैं, उनके लिए सूर्य के उप-पत्थर को “लाल गार्नेट” के रूप में वर्णित किया गया है …

लाल गार्नेट ‘सूर्य’ रत्न, माणिक्य का एक बहुत ही मजबूत और प्रभावी विकल्प है।

लाल गार्नेट में भी माणिक के समान गुण होते हैं। ज्योतिष शास्त्र में लाल अनार को सूर्य ग्रह का सर्वोत्तम विकल्प बताया गया है।

क्योंकि Red Garnet stone कोई बहुत कीमती रत्न नहीं है, इसे कोई भी खरीद और पहन सकता है। सबसे बड़ी बात यह है कि लाल गार्नेट में माणिक के सभी प्रकार के प्रभाव और लाभ पाए जाते हैं।
हां, बेशक, गार्नेट माणिक जितना शक्तिशाली नहीं है, लेकिन फिर भी, यह बहुत प्रभावी है।

१२ राशियाँ

Red Garnet stone की विशेषता

Red Garnet stone को संस्कृत भाषा में “रक्तमणि” कहा जाता है। इसके सुंदर गहरे लाल रंग के कारण इसे रक्तमणि भी कहा जाता है।

Red Garnet stone सेहत के लिए भी बहुत लाभकारी माना है। Red Garnet पहनने से व्यक्ति का रक्त संचार नियमित रहता है, दिल मजबूत होता है और अगर उसे किसी प्रकार की घबराहट होती है तब गार्नेट उसको कंट्रोल करने में बहुत सहायक होता है,

Red Garnet stone एक सुरक्षात्मक रत्न माना जाता है। अगर हम गार्नेट के अन्य लाभों को देखें तो यह सूर्य से ऊर्जा प्राप्त करके सूर्य के शुभ प्रभावों को बढ़ाता है और इसका प्रभाव यह होता है कि इसे धारण करने वाले व्यक्ति को समाज में अच्छी प्रतिष्ठा प्राप्त होती है। उसका भाग्य उदय होता है। धन कमाने वाले व्यक्ति के व्यापार और आर्थिक प्रगति में वृद्धि होती है।

Red Garnet stone पहनने से व्यक्ति के अंदर की नकारात्मक ऊर्जा समाप्त हो जाती है, व्यक्ति के चारों ओर सकारात्मक ऊर्जा का संचार होने लगता है, आत्मविश्वास बहुत मजबूत होता है, उसके व्यक्तित्व में निखार आता है और वह अपने जीवन के सभी कार्यों में अग्रणी होता है। बहुत समझदारी से करने लगते हैं।

अनमोल रत्न

गार्नेट किस माह में जन्में लोगों का भाग्यशाली रत्न है

जनवरी माह में जन्म लेने वाले जातकों का भाग्यशाली जन्म रत्न Red Garnet stone होता है। गार्नेट उनके जीवन में प्रगति, समृद्धि, अच्छा स्वास्थ्य, सुख, शांति, सामाजिक सम्मान और आर्थिक उनत्ति लाता है। इसलिए जनवरी के महीने में जन्में लोगों को गार्नेट जरूर पहनना चाहिए।

क्या माणिक्य की तुलना में गार्नेट अधिक महंगा है?

माणिक और गारनेट दोनों ही अपने-अपने स्थान पर सुंदर रत्न हैं। लेकिन, अगर दोनों रत्नों को मूल्यों के आधार पर आंका जाए, तो निस्संदेह, माणिक गार्नेट से कहीं अधिक मूल्यवान रत्न है।

Red Garnet stone सूर्य का उपरत्न

सूर्य का रत्न Red Garnet धारण करने से व्यक्ति के अशुद्ध विचार समाप्त हो जाते हैं, बुरे विचार आना बंद हो जाते हैं और व्यक्ति के अंदर सकारात्मक विचारों का संचार होने लगता है।
कारोबारियों के लिए सूर्य रत्न Red Garnet की माला पहनना बहुत फायदेमंद होता है। सूर्य वह ग्रह है जो सम्मान और ऊर्जा प्रदान करता है। इसी तरह व्यापार में भी गारनेट व्यक्ति को अच्छी ऊर्जा प्रदान करता है और वह व्यवसाय के माध्यम से समाज में नाम कमाता है।

सूर्य राजनीति और सरकारी क्षेत्रों और विभागों का प्रतिनिधित्व करने वाला ग्रह है। इसलिए माणिक्य धारण करने वाला व्यक्ति राजनीति में भी अच्छा प्रभाव डाल सकता है और सरकारी क्षेत्र से भी जुड़कर अच्छा लाभ कमा सकता है।
Red Garnet stone पहनने से सरकारी विभागों से ठेके और टेंडर मिलने की संभावना बढ़ जाती है और व्यक्ति को लाभ मिलता है।
शारीरिक दृष्टि से देखा जाए तो Red Garnet धारण करने से हृदय बलवान होता है, हृदय के विकार दूर होते हैं, शरीर की हड्डियां मजबूत और सीधी रहती है, फेफड़ों से संबंधित रोग दूर होते हैं।
व्यक्ति अपने आप में शक्ति का संचार महसूस करता है।

भाग्यशाली रत्न

आइए जानते हैं सूर्य के Red Garnet stone को कैसे धारण करें।

सूर्य रत्न का गार्नेट हमेशा पंचधातु की अंगूठी में या गले में पंचधातु लॉकेट में पहनना चाहिए।
सूर्य की अनामिका अंगुली में Red Garnet की अंगूठी पहननी चाहिए।
धारण करने से पहले, गंगाजल और गाय के दूध के साथ “शुद्धिकरण” के बाद, Red Garnet की अंगूठी को पूजा के स्थान पर रखें और पूजा करते हुए सूर्य मंत्र का जाप (108 बार) करते हुए सूर्य देव का स्मरण करें और प्रार्थना करें,
अपने अच्छे स्वास्थ्य, धन, व्यापार और सुख की कामना के लिए रविवार के दिन सूर्योदय के बाद शुभ मुहूर्त में इसे धारण करें।

Red Garnet stone किसके लिए अच्छा है?

लाल गारनेट धारण करने से हृदय को बल मिलता है, यह आपसी प्रेम को बढ़ाता है, व्यक्ति में कामुकता जगाता है, मन के विचारों को शुद्ध करता है, क्रोध और मानसिक परेशानियों को कम करता है।

लाल गार्नेट किसका प्रतीक है?

Red Garnet stone प्रेम का प्रतीक है, आपसी संबंधों की भावनाओं को बढ़ाता है, सुख लाता है, आर्थिक प्रगति देता है, सामाजिक सम्मान प्रदान करता है।

लग्नानुसार रत्न निर्धारण

लाल गार्नेट स्टोन कौन पहन सकता है?

सूर्य ग्रह के कमजोर होने पर गार्नेट पहनना चाहिए, गार्नेट पहनने से सूर्य के प्रभाव में वृद्धि होती है।
सौंदर्य प्रसाधन, लॉटरी, शेयर बाजार, कला, फिल्म निर्माता, टेलीविजन अभिनेता, रासायनिक कार्यों से जुड़े लोग, व्यापारिक कर्मचारी, सरकारी अनुबंध लेने वाले, उच्च सरकारी पदों पर बैठे लोगों को लाल रंग का गार्नेट रत्न धारण करना चाहिए।

मेष, कर्क, सिंह, वृश्चिक, धनु, लग्न के व्यक्ति लाल रंग का गारनेट पहन सकते हैं।

सबसे अच्छा गार्नेट स्टोन कौन सा है?

Red Garnet stone विभिन्न प्रकार के सुंदर रंगों में पाया जाता है, जैसे लाल, गुलाबी, बैंगनी लाल, लाल-नारंगी, लाल-नारंगी, नारंगी, भूरा-नारंगी, पीला-नारंगी, हरा, हरा-पीला-भूरा, भूरा, आड़ू, बैंगनी, नीला, नीला हरा, हरा, बैंगनी।

गार्नेट एक पारदर्शी, चमकदार और सुंदर रत्न है। गहरे लाल, बैंगनी-लाल, लाल रंग के गारनेट सामान्यतः पाए जाते हैं,
इसके अलावा अन्य रंगों के गार्नेट बहुत कम मिलते हैं।

ज्योतिषीय कारणों से और जनवरी के जन्म के रत्न के आधार पर देखा जाए तो लाल रंग का Garnet सभी रंगों में सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है।

सबसे अच्छे Garnet stone कहाँ पाए जाते हैं?

गार्नेट रत्न कई रंगों में उपलब्ध है, गार्नेट की कई प्रजातियां पूरी दुनिया में पाई जाती हैं,
ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका और भारत में बहुत अच्छी किस्म के गार्नेट पाए जाते हैं।

इसके अलावा बेस्ट गार्नेट का स्थान कौन सा है।

Demantoid garnet, जिसे बहुत कीमती माना जाता है, यह गारनेट रूस और नामीबिया में पाया जाता है।

Tsavorite garnets केन्या और तंजानिया में पाए जाते हैं।

Pinkishred rhodolite गार्नेट भारत और श्रीलंका में पाया जाता है।

नामीबिया में Mandarin गार्नेट पाए जाते हैं।

Leave a Comment

सूर्य रत्न माणिक्य कौन धारण कर सकते है पन्ना रत्न किसे पहनना चाहिए