durg bhilai jyotish और चमत्कारी सुलेमानी हकीक

सुलेमानी हकीक

durg bhilai jyotish

Lakshmi-Narayan-Jyotish

who are we

About Us

One of the greatest Brand Astrologers in India Mr.Lakshmi Narayan founder of Jyotish Paramarsh Kendra, Shani Dev Sadhak.

दोस्तों, आप हमसे निःसंकोच संपर्क करे, हम आपकी जन्म कुंडली का विश्लेषण करके आपकी हर समस्या का निवारण करेंगे,
आपकी परेशानी ख़त्म होने से हमें भी आत्मिक सुख का अहसास होगा।


सुलेमानी हकीक/Black agate

sulemani akik

सुलेमानी हकीक

सुलेमानी हकीक एक खूबसूरत, कठोर, चिकना और चमकदार अपारदर्शी रत्न होता है,
इस रत्न का रंग काला होता है, और इसके ऊपर तरह तरह की सफ़ेद धारियां रहती है, सुलेमानी हकीक हर व्यक्ति धारण करके कई तरह के चमत्कारी लाभ प्राप्त कर सकता है और अपने जीवन की सभी परेशानियों से छुटकारा प्राप्त कर सकता है।

चमत्कारी सुलेमानी हकीक

इस पोस्ट में हम ‘चमत्कारी सुलेमानी हकीक‘ रत्न के बारे में जानेंगे, इस रत्न को कोई भी धारण कर सकता है, यह रत्न बहुत प्रभावशाली है और सकारात्मक ऊर्जाओं से भरा है, इस रत्न को धारण करके खुद ही इसके चमत्कारों का अनुभव किया जा सकता है।

सुलेमानी हकीक या Black agate

सुलेमानी हकीक जिसे अंग्रेजी में Black agate बोला जाता है यह उपरत्न की श्रेणी में आता है। काला सुलेमानी हकीक पूर्ण रूप से काला या उसके ऊपर सफ़ेद रंग की धारियां पाई जाती है।
सुलेमानी हकीक एक ऐसा रत्न है जिसे कोई भी व्यक्ति धारण कर सकता है, इस रत्न को भाग्य बढ़ाने वाला रत्न और विपदाओं को अपने अंदर झेल लेने वाला रत्न माना गया है।
मुस्लिम धर्म के लोगों के लिए यह एक बहुत ही पवित्र रत्न होता है। सुलेमानी हकीक का इस्तेमाल सदियों से होता चला आ रहा है, पुराने समय के राजा महाराजा इस रत्न को युद्ध में विजय प्राप्त करने और भाग्य को चमकाने के लिए इस्तेमाल किया करते थे,
ऐसी मान्यता थी की अगर सुलेमानी हकीक गर्भवती स्त्री को धारण कराया जाये तो उसे बच्चे को जन्म देते समय किसी भी तरह की परेशानी नहीं होती है।

सुलेमानी हकीक धारण

सुलेमानी हकीक मुख्य तौर से अंगूठी या लॉकेट में जड़वाकर धारण किया जाता है, सुलेमानी हकीक एक ऐसा रत्न है जिसे धारण करने से व्यक्ति की सभी प्रकार की परेशानियां ख़त्म होती है, आर्थिक लाभ होता है, धन आगमन बढ़ता है, व्यक्ति शारीरिक और मानसिक रूप से ताकतवर होता है।

इसके आलावा सुलेमानी हकीक शनि और राहु के शुभ प्रभावों की वृद्धि करता है। इस रत्न को शनि या राहु की महादशा में धारण करने से विशेष लाभ मिलता है।

Read Also : Your Lucky Gemstone

सुलेमानी हकीक धारण करने के लाभ

अगर किसी व्यक्ति, स्त्री या बच्चे को बहुत जल्दी नजर लगती हो, या बहुत जल्दी बाहरी हवाओं का प्रभाव हो जाता हो, तो ऐसे व्यक्तियों को सुलेमानी हकीक तुरंत धारण करना चाहिए।
अगर आपका कोई दुश्मन या रिश्तेदार बार बार आप पर काला जादू करवाता हो, ऐसे में सुलेमानी हकीक रक्षा कवच का काम करता है।

बहुत प्रयासों के बाद भी नौकरी नहीं लग पा रही हो, बार बार कोई अड़चन आ रही हो, व्यवसाय बढ़ नहीं रहा हो, व्यवसाय से आमदनी नहीं हो पा रही हो, ऐसी स्तिथि में सुलेमानी हकीक धारण करने से व्यवसाय और नौकरी में बहुत लाभ होता है और चमत्कारी बदलाव देखने को मिलते है।
धन लाभ के रास्ते खोलता है सुलेमानी हकीक

अगर कोई व्यक्ति मन से कमजोर है, मन उदास रहता है, किसी भी काम में दिल नहीं लगता है, जीवन के प्रति उदासीनता रहती है, मन में घबराहट रहती हो और हर समय कोई अनजाना सा डर लगा रहता हो, तनाव रहता हो,
ऐसे में उस व्यक्ति के चारों ओर नकारात्मक ऊर्जाओं का प्रभाव हो जाता है, बुरी शक्तियां उस पर हावी होने लगती है, बहुत जल्दी वह व्यक्ति बुरे प्रभावों में आ जाता है, ऐसे व्यक्ति के लिए सुलेमानी हकीक एक चमत्कारी रत्न है, ऐसे व्यक्ति को सुलेमानी हकीक आवशय धारण करवाना चाहिए।

जो व्यक्ति बहुत जल्दी जल्दी बीमार पड़ जाते है, या उनको कोई न कोई बीमारी घेरे रहती है, शरीर बहुत दुर्बल है, ऐसे व्यक्तियों को भी सुलेमानी हकीक जरूर धारण करना चाहिए।

Read Also : आपका भाग्यशाली रत्न

सुलेमानी हकीक धारण करने के अन्य लाभ:-

  • धारणकर्ता को शारीरिक रूप से मजबूत करता है, मानसिक मजबूती और हड्डियों को मजबूत बनाता है।
  • बढ़ती उम्र की शारीरिक कमजोरियों को बढ़ने से रोकता है।
  • सुलेमानी हकीक धारण करने से कारोबार या नौकरी में आने वाली परेशानियां ख़त्म होती है।
  • सुलेमानी हकीक धारण करने से कभी भी शत्रु धारणकर्ता पर हावी नहीं हो पायेगा।
  • सुलेमानी हकीक धारण करने से किसी भी तरह का नजर दोष नहीं लगता है।
  • इस रत्न के धारणकर्त्ता को किसी भी तरह के जादू टोने, भूत प्रेत का असर नहीं होता है।

Read Also : लक्ष्मी नारायण के अन्य ज्योतिष संपर्क

सुलेमानी हकीक धारण करने का तरीका

सुलेमानी हकीक एक शुभ रत्न है, इस रत्न को बच्चे, पुरुष, महिलाएं और बुजुर्ग कोई भी धारण कर सकता है,
हर व्यक्ति के लिए सुलेमानी हकीक अत्यंत लाभकारी है, इस रत्न को चांदी की अंगूठी या लॉकेट में बनवाकर धारण करना चाहिए,

सुलेमानी हकीक को मध्यमा ऊँगली में शनिवार की शाम को शुभ मुहूर्त देखकर धारण करना चाहिए, धारण करने से पहले अंगूठी या लॉकेट को गंगा जल से स्नान करवाकर शुद्ध करना चाहिए, तदोपरांत पूजा स्थल पर रखकर धूप,दीप,तिलक करना चाहिए, अपने इष्ट देव या अपने गुरु की पूजा अर्चना करने के बाद सुलेमानी हकीक की भी पूजा करे और अपनी मनोकामनाओं को पूर्ण होने का आशीर्वाद मांगते हुए धारण करना चाहिए।

Please follow and like us:

Leave a Comment

सूर्य रत्न माणिक्य कौन धारण कर सकते है पन्ना रत्न किसे पहनना चाहिए