गोमेद कौन पहन सकता है?

गोमेद कौन पहन सकता है?

 

गोमेद कौन पहन सकता है?
 गोमेद कौन पहन सकता है?


गोमेद को लेकर भी लोगों के मन में शंकाये रहती है की क्या वे गोमेद धारण कर सकते है, तो आइये आज जानकारी प्राप्त करते है की गोमेद कौन पहन सकता है?

गोमेद रत्न 

 राहु रत्न गोमेद तुरंत अपने प्रभाव दिखाने वाला रत्न है, अगर राहु किसी पर मेहरबान हो जाये तो व्यक्ति को धनवान बनने में वक़्त नहीं लगता, बड़े बड़े इंडस्ट्रलिस्ट,और राजनेताओं की कुंडली में राहु के ही बलवान योग देखने को मिलते है,
राहु अचानक बुलंदियों पर पहुंचाहता है, अचानक धन लाभ देता है, अचानक संपत्ति लाभ देता है, व्यक्ति अचानक नामी और धनवान बन जाता है और राहु की माया तो ऐसी है की किस के समझ भी नहीं आता।

लेकिन इसका एक उल्टा पहलु भी है, जिसकी कुंडली में राहु अशुभ हो तो आप यह भी मान कर चले की राहु भीख मंगवाने में भी समय नहीं लगाता।

इसलिए यह समझना और जानना बहुत जरूरी है की कौन राहु का रत्न गोमेद धारण कर सकता है और किसके लिए गोमेद अति विनाशकारी है,
इसके लिए सबसे श्रेष्ठ होता है की अपनी जन्म पत्रिका का किसी ज्योतिषाचार्य से परामर्श किया जाये और फिर गोमेद धारण किया जाये,

गोमेद रत्न कुंडली के अनुसार


ज्योतिषशास्त्र के अनुसार वृषभ, मिथुन, कन्या, तुला, मकर और कुंभ लग्न के जातक गोमेद धारण कर सकते है,
जिन व्यक्तियों की कुंडली में राहु प्रथम, चतुर्थ, षष्ठम, नवम, दशम और एकादश भाव में बैठा हो वे जातक गोमेद धारण कर सकते है, इन भावों और लग्नों में गोमेद धारण करने से लाभकारी होता है,
इसके अलावा जिन जातकों का जन्म आर्दा और शतभिषा नक्षत्र में हुआ हो उनको भी गोमेद धारण करने से बहुत लाभ मिल सकते है, 

गोमेद धारण करने के लाभ


गोमेद धारण  करने से आर्थिक उनत्ति होती है, व्यक्ति किसी बड़े पद पर पहुँचता है, राजनीती में बड़ा नेता बनता है, किसी बड़ी कंपनी का मालिक बनता है,

जिन व्यक्तियों के लिए गोमेद लाभकारी होता है, उन व्यक्तियों पर दुश्मन कभी भी विजय प्राप्त नहीं कर सकता, किस भी तरह के अदालती विवादों में ऐसे जातकों की कभी भी हार नहीं होती,
व्यक्ति अत्यंत दिलेर होता है, ऐसे जातक लोगों पर अपना अधिपत्य रखते है, शारीरिक  रूप से बलशाली होता है, अपने जीवन में बहुत सी विदेश यात्राएं करते है, विदेशों से धन  कमाते है, या विदेश में सेटल होते है।

गोमेद धारण करने वाले व्यक्ति को कभी भी बीमारियां नहीं लगती और न ही कभी किसी तरह का जादू टोना या नजर लगती है।

गोमेद कैसे धारण करें


गोमेद को चांदी की अंगूठी में जड़वाना चाहिए और शनिवार शाम को मध्यमा उंगली में धारण करना चाहिए।

Leave a Comment

सूर्य रत्न माणिक्य कौन धारण कर सकते है पन्ना रत्न किसे पहनना चाहिए