Benefits of Manik Ratna: माणिक रत्न के लाभ

माणिक रत्न के लाभ

१२ लग्नों के अनुसार माणिक्य धारण, सूर्य किस लग्न में क्या नफा नुकसान देता है, और किस लग्न के जातक माणिक्य धारण कर सकते है।

manik stone benefits in hindi:माणिक्य रत्न की विशेषताएं

manik stone benefits in hindi

धन,संपत्ति,सामाजिक मान सम्मान,पैतृक संपत्ति,उच्च सरकारी पद प्रदान करना,माणिक्य रत्न की विशेषता है। आइये जाने manik stone benefits in hindi

माणिक रत्न धारण करने का मंत्र: Manik Gemstone Benefits

अलग अलग रत्नों के लिए अलग अलग मन्त्र होते है, ऐसे ही माणिक रत्न धारण करने का मंत्र भी अलग ही आइये जानते है माणिक के लिए मन्त्र

माणिक रत्न किस राशि को पहनना चाहिए: Manik Gemstone Benefits

सभी नवग्रहों की अपनी राशियां होती है और हर राशि का ग्रह और रत्न निर्धारित है, आइये जानते है माणिक रत्न किस राशि को पहनना चाहिए

माणिक्य रत्न के फायदे

माणिक्य रत्न के फायदे

जन्म कुंडली में माणिक्य रत्न के फायदे अत्यंत जरूरी है,माणिक्य रत्न का स्वामी सूर्य ही व्यक्ति के जीवन में उनत्ति और प्रसिद्धि का स्वामी है।

माणिक रत्न किस उंगली में पहनना चाहिए

माणिक रत्न किस उंगली में पहनना चाहिए

माणिक रत्न किस उंगली में पहनना चाहिए/ किसी भी रत्न को धारण करने से पहले यह देखना जरुरी होता है की लग्न कुंडली में ग्रहों की दशा क्या है।

जन्म कुंडली के चतुर्थ भाव में सूर्य और माणिक्य धारण

जन्म कुंडली के चतुर्थ भाव में सूर्य और माणिक्य धारण

जन्म कुंडली में सूर्य चतुर्थ भाव में है तो क्या आप माणिक्य धारण कर सकते है। आइये जानें जन्म कुंडली के चतुर्थ भाव में सूर्य और माणिक्य धारण।

जन्म कुंडली के तीसरे भाव में सूर्य और माणिक्य धारण

जन्म कुंडली के तीसरे भाव में सूर्य और माणिक्य धारण

जन्म कुंडली के तीसरे भाव में सूर्य और माणिक्य धारण करने से लाभ की प्राप्ति तो होती है, लेकिन यह देखना होता है की सिंह राशि किस भाव में है

जन्म कुंडली के दूसरे भाव में सूर्य और माणिक्य धारण

जन्म कुंडली के दूसरे भाव में सूर्य और माणिक्य धारण

दूसरे भाव में सूर्य और माणिक्य का क्या संबंध है, किस लग्न और किन परिस्थितियों में माणिक्य करना लाभकारी रहेगा।