Sale!

Garnet Locket

1,050.00

गार्नेट रत्न
गार्नेट रत्न locket

Garnet Locket

6.0 ct/Genuine, Certified/In Asth dhatu.(Cash on Delivery)

गार्नेट रत्न धारण करने के फायदें

गार्नेट को धारण करने से सौभाग्य में बढ़ोतरी ,स्वास्थ्य में आनंद ,मान मर्यादा ,सम्मान ,यात्रा में सफलता मिलती है और मन में उत्पन्न विकृतियों को भी दूर करता है।

गार्नेट धारण करने से मान सम्मान प्राप्त होता है। क्योंकि रत्न विशेषज्ञों का मत है कि इसमें हिप्नोटाइज शक्ति होती है। किसी प्रकार के विवाद अथवा मुकदमेबाजी की दिशा में एव शत्रु भय होने पर गार्नेट अनामिका उंगली में धारण करना चाहिए। अगर मन में गंदे विषयों के बारे में बार-बार विचार आते हो ,तो इनको गार्नेट गले में धारण करने से गंदे विषय के विचार आने बंद हो जाएंगे। ज्यादा यात्रा करने वालों को, जहरीले या विषैले पदार्थों का व्यवसाय या इन क्षेत्रों में काम करने वालों को तामड़ा गले में धारण करना चाहिए। यात्रा में गार्नेट रक्षा कवच का काम करता है।

गार्नेट में रोग प्रतिरोधक क्षमता होती है ,इसलिए जो लोग बार-बार किसी बीमारियां, मौसम परिवर्तन आदि के कारण बीमार हो जाते हैं ,उनको गार्नेट गर्दन में धारण करना चाहिए। जिनको ज्यादा डरावने यहां अन्य प्रकार के बुरे सपने दिखाई पड़ते हो उनको गार्नेट गले में धारण करना चाहिए। जिनके मन में हमेशा छोटी से छोटी बात को लेकर चिंता बनी रहती हो उन लोगों को गार्नेट गले में धारण करना चाहिए।

प्राचीन काल से लेकर आज तक गार्नेट के बारे में एक बात पूर्ण रूप से निश्चित है कि इस रत्न को धारण करने वालों को तूफान या बिजली गिरने से जीवन में हानि नहीं पहुंचती और यात्रा में किसी तरह की की हानि या कष्ट नहीं होता। इस रत्न की विशेषता है कि यह रत्न सब प्रकार से आने वाले खतरों को झेलता हुआ अपना रंग बदल देता है तथा विशेष कष्ट आने से पूर्व टूट भी सकता है।

Description

Garnet Locket

6.0 ct/Genuine, Certified/In Asth dhatu.(Cash on Delivery)

गार्नेट रत्न धारण करने के फायदें

गार्नेट को धारण करने से सौभाग्य में बढ़ोतरी ,स्वास्थ्य में आनंद ,मान मर्यादा ,सम्मान ,यात्रा में सफलता मिलती है और मन में उत्पन्न विकृतियों को भी दूर करता है।

गार्नेट धारण करने से मान सम्मान प्राप्त होता है। क्योंकि रत्न विशेषज्ञों का मत है कि इसमें हिप्नोटाइज शक्ति होती है। किसी प्रकार के विवाद अथवा मुकदमेबाजी की दिशा में एव शत्रु भय होने पर गार्नेट अनामिका उंगली में धारण करना चाहिए। अगर मन में गंदे विषयों के बारे में बार-बार विचार आते हो ,तो इनको गार्नेट गले में धारण करने से गंदे विषय के विचार आने बंद हो जाएंगे। ज्यादा यात्रा करने वालों को, जहरीले या विषैले पदार्थों का व्यवसाय या इन क्षेत्रों में काम करने वालों को तामड़ा गले में धारण करना चाहिए। यात्रा में गार्नेट रक्षा कवच का काम करता है।

गार्नेट में रोग प्रतिरोधक क्षमता होती है ,इसलिए जो लोग बार-बार किसी बीमारियां, मौसम परिवर्तन आदि के कारण बीमार हो जाते हैं ,उनको गार्नेट गर्दन में धारण करना चाहिए। जिनको ज्यादा डरावने यहां अन्य प्रकार के बुरे सपने दिखाई पड़ते हो उनको गार्नेट गले में धारण करना चाहिए। जिनके मन में हमेशा छोटी से छोटी बात को लेकर चिंता बनी रहती हो उन लोगों को गार्नेट गले में धारण करना चाहिए।

प्राचीन काल से लेकर आज तक गार्नेट के बारे में एक बात पूर्ण रूप से निश्चित है कि इस रत्न को धारण करने वालों को तूफान या बिजली गिरने से जीवन में हानि नहीं पहुंचती और यात्रा में किसी तरह की की हानि या कष्ट नहीं होता। इस रत्न की विशेषता है कि यह रत्न सब प्रकार से आने वाले खतरों को झेलता हुआ अपना रंग बदल देता है तथा विशेष कष्ट आने से पूर्व टूट भी सकता है।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Garnet Locket”

सूर्य रत्न माणिक्य कौन धारण कर सकते है पन्ना रत्न किसे पहनना चाहिए